Average Formula in Hindi |औसत का फार्मूला, ट्रिक और परिभाषा

0
376

Average Formula in Hindi: गणित के सबसे महत्वपूर्ण टॉपिकों में से सबसे प्रसिद्ध टॉपिक औसत फार्मूला है, क्योंकि इसके अंतर्गत व्यावहारिक ज्ञान जैसे औसत रन, औसत आयु, औसत प्राप्तांक, औसत भार, औसत चाल आदि पर आधारित विशेष प्रश्न प्रतियोगिता परीक्षा में पूछे जाते है. इसलिए, शिक्षकगण इन प्रश्नो को हल करने के लिए औसत की मूल अवधारणा पर विशेष बल देते है.Trigonometry Formula in Hindi

विद्यार्थियों यानि प्रतियोगी को Average Formula in Hindi और प्रश्न से पुर्णतः ज्ञान प्रदान करने के लिए इसके बेसिक इकाईयों को समझना आवश्यक है. प्रतियोगिता परीक्षा को ध्यान में रखते है हुए यहाँ ऐसे सूत्र एवं ट्रिक्स को सामिल किया गया है जो औसत के प्रशों को हल करने में सर्वाधिक प्रयोग किया जाता है.

मैथ्स की तैयारी करने के लिए फार्मूला का अध्ययन करना अतिआवश्यक होता है. शिक्षक के परामर्श अनुसार यहाँ सिर्फ वैसे ही फार्मूला उपलब्ध कराया गया है जो आवश्यक है.

विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं जैसे SSC, बैंकिंग, CAT, MAT इत्यादि,के ऐप्टटूड सेक्शन में औसत के प्रश्न पूछे जाते हैं। आप इस विषय के प्रश्नों को हल करने के लिए शॉर्टकट तरीके, सूत्र सीख सकते हैं। किसी भी परीक्षा में अच्छे अंक प्राप्त करने के लिए, महत्वपूर्ण विषयों का ज्ञान होना और बुनियादी अवधारणाओं का स्पष्ट होना आवश्यक है।

औसत का सूत्र | Average Formula in Hindi

अधिकतर प्रश्न को लगभग औसत के इन्ही सूत्रों से हल किया जाता है. खासकर प्रतियोगिता परीक्षा में ये फार्मूला सर्वाधिक महत्वपूर्ण होते है. अतः स्मरण रखे.

1. प्रथम n प्राकृतिक संख्याओं का औसत = (n + 1)/2

2. प्रथम n प्राकृत संख्याओं के वर्गों का औसत = (n + 1) (2n + 1)/6

3. प्रथम n प्राकृतिक संख्याओं के घनों का औसत = n(n + 1)²/4

4. लगातार n तक विषम संख्याओं का औसत = n

5. लगातार n तक सम संख्याओं का औसत = (n + 1)

6. n तक की सम संख्याओं का औसत = (n + 2)/2

7. लगातार n तक की पूर्ण संख्याओं का औसत = n/2

8. यदि n कोई विषम संख्या हो, तो क्रमागत सम संख्या या क्रमागत विषम संख्याओं का हमेशा माध्य संख्या होती है.

9. पहले n क्रमागत सम संख्याओं के वर्गों का औसत = (2 (n + 1) (2n + 1))/3

10. n तक पहले क्रमागत विषम संख्याओं के वर्गों का औसत = (n (n + 2))/3

11. यदि n क्रमागत संख्याओं का औसत m है, तो सबसे छोटी और सबसे बड़ी संख्या के बीच का अंतर = 2 (n – 1)

औसत क्या है | Average in Hindi

सामान्यतः औसत एक ऐसी गणितीय मान या संख्या है जो दी गयी संख्याओ के योगफल तथा दी गयी संख्याओं की संख्या के average formulaअनुपात से बनता है. औसत को परिभाषित इस प्रकार किया जाता है:

गणितीय औसत की परिभाषा: 

दो या दो से अधिक सजातीय पदों का औसत वह संख्या होता है, जो दिए गए पदों के योगफल से उन्ही पदों की संख्या को भाग देने पर प्राप्त होती है.

सरल शब्दों में, दो या दो से अधिक सजातीय राशियों के जोड़ को उन्ही राशियों की संख्या से भाग करने पर प्राप्त भागफल उन राशियों का औसत कहलाता हैं.

Note:-
औसत को मध्यमान या माध्य से भी सम्बोधित किया जाता है.

अर्थात औसत = (सभी राशियों का योग) / (राशियों की संख्या)

यदि x, x2 , x2 , x3 , x4 …………. xn , n राशियाँ हो, तो
औसत = ( x+ x2 + x2 + x3 + x4 ) / n

उदाहरण:
Q. 3, 6, 8, 17 का औसत ?
अंकों का योग = 5 + 6 + 8 + 17 = 36
राशियों की कुल संख्या = 4
इसलिए, औसत = 36 / 4 = 9 ans.

औसत के महत्वपूर्ण स्मरणीय सूत्र | Important Average Formula in Hindi

औसत से सम्बंधित महत्वपूर्ण प्रशों को हल करने का अवधारणा, जिसके मदद से प्रतियोगिता एग्जाम में आए प्रशों को सरलता हल किया जा सकता है.

1. यदि n क्रमागत सम या विषम संख्याओं का औसत x हो

  • सबसे छोटी सम या विषम संख्या = x – (n-1) 
  • तथा सबसे बड़ी सम या विषम संख्या = x + (n-1)

2. किसी संख्या x के लगातार n गुणजों का औसत = x (n+1) / 2

3. n1 तथा n2 राशियों का औसत क्रमश: x1 तथा x2 हो, तो
(n1+n2) राशियों का औसत = ( n1 x1 + n2 x2 )  / ( n1 + n2 )

4. n मात्राओं का औसत x के बराबर है, जब एक मात्रा हटा या जोड़ दी जाती है, तो औसत y हो जाता है.

  • हटाई गई मात्रा का मान = n(x – y) + y
  • जोड़ी गई नही मात्रा का मन = n(y – x) + y

इसे भी पढ़े, LCM और HCF का सूत्र, परिभाषा एवं ट्रिक्स

औसत पर आधारित महत्वपूर्ण तथ्य

  • यदि सभी संख्याओं में x गुणा की जाती है, तो उनके औसत में भी x गुणा की कमी होती है.
  • किसी संख्या में x से भाग की जाती है, तो उनके औसत में भी x से भाग होती है.
  • अगर सभी संख्याओं में x की वृद्धि होती है, तो उनके औसत में भी x की वृद्धि होती है.
  • यदि सभी संख्याओं में x की कमी होती है, तो उनके औसत में भी x की कमी होती है.
  • दो क्रमागत पदों या संख्याओं का अन्तर समान हो, तो औसत = पहली संख्या + अन्तिम संख्या / 2

Average Formula in Hindi (FAQ)

Q. एवरेज कैसे निकाला जाता है?

Ans: किसी दी गई राशियों का औसत प्राप्त करने के लिए उन समस्त राशियों के योग में राशियों की संख्या से भाग देते हैं।

Q. औसत मान क्या होता है?

Ans: औसत एक ऐसी गणितीय मान या संख्या हैं जो दी गयी संख्याओं के योगफल तथा दी गयी संख्याओं की संख्या के अनुपात से बनता हैं।

Q. औसत आय को क्या कहते हैं?

Ans: किसी देश की कुल आय को कुल जनसंख्या से भाग देकर जो आय प्राप्त होती है उसे औसत आय कहते हैं

Q. 10 संख्याओं का औसत क्या होगा?

Ans:
1 से लेकर 10 तक सभी संख्याओं का औसत 5.5 होगा चाहें आप 1 से लेकर 10 तक केवल प्राकृत संख्याएँ को लिजिए या केवल परिमेय संख्याओं को लिजिए या सभी संख्याओं को लिजिए क्योंकि 5.5 संख्या रेखा पर 1 और 10 के ठीक बीच में स्थित है ।


https://play.google.com/store/apps/details?id=com.app.testseries.dreambiginstitution&hl=en_IN&gl=US
5 1 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments