LBSNAA Full Form in Hindi : लबसना (LBSNAA) क्या है | लबसना का क्या मतलब होता है ?

0
140

LBSNAA Full Form in Hindi

LBSNAA पूर्ण रूप: लाल बहादुर शास्त्री राष्ट्रीय प्रशासन अकादमी

लाल बहादुर शास्त्री राष्ट्रीय प्रशासन अकादमी, जिसे आमतौर पर LBSNAA के रूप में जाना जाता है, उत्तराखंड के मसूरी शहर में स्थित एक भारतीय सरकारी प्रशिक्षण संस्थान है। इसकी स्थापना 1959 में देश की प्रशासनिक सेवाओं के लिए भारत के सिविल सेवकों के प्रशिक्षण और विकास के उद्देश्य से की गई थी।

अकादमी का नाम भारत के दूसरे प्रधान मंत्री लाल बहादुर शास्त्री के नाम पर रखा गया है, जो अपने नेतृत्व गुणों, ईमानदारी और सार्वजनिक सेवा के प्रति प्रतिबद्धता के लिए प्रसिद्ध हैं।

एलबीएसएनएए भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस), भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस), भारतीय वन सेवा (आईएफओएस), भारतीय राजस्व सेवा (आईआरएस) और अन्य संबद्ध सेवाओं के अधिकारियों को प्रशिक्षण प्रदान करता है। अकादमी सार्वजनिक नीति, ग्रामीण विकास और आपदा प्रबंधन जैसे क्षेत्रों में अभिविन्यास पाठ्यक्रम, मध्य-कैरियर पाठ्यक्रम और विशेष पाठ्यक्रम सहित मूलभूत और विशेष प्रशिक्षण कार्यक्रम दोनों प्रदान करती है।

अकादमी प्रशिक्षुओं के लिए एक अच्छी तरह से सुसज्जित पुस्तकालय, खेल सुविधाएं, छात्रावास और मनोरंजक क्षेत्रों जैसी कई अन्य सुविधाएं भी प्रदान करती है। इसके अतिरिक्त, एलबीएसएनएए में प्राचीन से आधुनिक काल तक प्रशासन के विकास सहित भारतीय सिविल सेवाओं के इतिहास को प्रदर्शित करने वाला एक संग्रहालय है।

कुल मिलाकर, LBSNAA भारत के सिविल सेवकों की क्षमताओं को विकसित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है, उन्हें प्रभावी ढंग से देश और इसके नागरिकों की सेवा करने के लिए तैयार करता है। उत्कृष्टता के लिए अकादमी की प्रतिबद्धता और सार्वजनिक सेवा के प्रति समर्पण इसे देश की शासन संरचना में एक महत्वपूर्ण संस्थान बनाता है।

लबसना (LBSNAA) का फुल फार्म | Full Form of LBSNAA

लबसना (LBSNAA) का पूर्ण रूप “लाल बहादुर शास्त्री राष्ट्रीय प्रशासनिक एकैडमी’ (Lal Bahadur Shastri National Administration Academy)” है. इसकी स्थापना 15 अप्रैल, 1958 को तत्कालीन केंद्रीय गृह मंत्री पंडित गोविंद बल्लभ पंत द्वारा की गयी थी.

लाल बहादुर शास्त्री राष्ट्रीय प्रशासन अकादमी | The Lal Bahadur Shastri National Academy of Administration (LBSNAA)

LBSNAA भारत में सार्वजनिक नीति और सार्वजनिक प्रशासन पर एक सिविल सेवा प्रशिक्षण संस्थान ( civil service training institute on public policy and public administration) है। प्रशिक्षण पूरा होने के बाद, IAS कैडर के प्रशिक्षु अधिकारियों (trainee officers of IAS cadre) को दिल्ली के जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय ( Jawaharlal Nehru University) से एमए (सार्वजनिक प्रबंधन) यानी MA (Public Management) से सम्मानित किया जाता है।


यह मसूरी (उत्तराखण्ड) में स्थित है। आपको बता दें कि यहाँ LBSNAA में बांग्लादेश, भूटान, म्यंमार और मालदीव्स के प्रशासनिक अधिकारियों की ट्रेनिंग भी होती है.

क्या है  लबसना (LBSNAA)  का उद्देश्य :

लाल बहादुर शास्त्री राष्ट्रीय प्रशासन अकादमी उद्देश्य (ला.ब.शा.रा.प्र.अ.) उच्चतर सिविल सेवाओं के अधिकारियों को प्रशिक्षण प्रदान करने के लिए समर्पित, भारत का अग्रणी संस्थान है। इसके मुख्य दायित्व हैं- अखिल भारतीय सेवाओं तथा केंद्रीय सेवाओं (समूह ‘क’) के सदस्यों को एक संयुक्त आधारिक पाठ्यक्रम के जरिए प्रवेशकालीन प्रशिक्षण प्रदान करना ; भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारियों के लिए प्रवेशकालीन तथा प्रवेशोपरांत प्रशिक्षण तथा मिड कैरिअर प्रशिक्षण प्रदान करना ; भा. प्र. सेवा तथा अन्य सेवाओं के लिए अन्य सेवाकालीन प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित करना।

 इसकी स्थापना सन 1959 में आई.ए.एस. ट्रेनिंग स्कूल, दिल्ली तथा आई.ए.एस. स्टाफ कॉलेज, शिमला को मिलाकर ‘नैशनल एकेडमी ऑफ एडमिनिस्ट्रेशन’ के रूप में हुई ।

LBSNAA  UPSC की सिविल सेवा परीक्षा पास करने वाले सभी उम्मीदवारों को ट्रेनिंग के लिए लाल बहादुर शास्त्री नेशनल अकेडमी ऑफ़ एडमिनिस्ट्रेशन (LBSNAA) में बुलाया जाता है। यह अकेडमी उत्तराखंड के मसूरी में स्थित है जो की एक पहाड़ी इलाका है। माना जाता है की इस ट्रेनिंग अकेडमी में कड़े नियमों का पालन करना पड़ता है।

लबसना (LBSNAA) में होने वाली गतिविधियां

उम्मीदवार ध्यान दें यहाँ हम आपको लबसना (LBSNAA) में होने वाली गतिविधियां के विषय में जानकारी देने जा रहें है। इन जानकारियों को आप नीचे दी गई सारणी के माध्यम से प्राप्त कर सकते है। ये सारणी निम्न प्रकार है –

  1. LBSNAA में रहने वाले अभ्यर्थियों के दिन की शुरुआत प्रातः 6 बजे से होती है। प्रातः सुबह 6 बजे उठने के पश्चात अभ्यर्थियों को व्यायाम करना होता है। हालांकि अभ्यार्थी दौड़ भी कर सकते है। इसके अलावा अगर कोई दौड़ नहीं करना चाहता है तो वे राइडिंग भी कर सकता है।
  2. इसके बाद अभ्यर्थियों को एक घंटे है समय दिया जाता है जिसमे उन्हें नहाकर नाश्ता करने के लिए तैयार होना होता है।
  3. उसके बाद 9 बजे से ट्रेनिंग शुरू हो जाती है जिसमें अभ्यर्थियों को 5-6 क्लास अटेंड करनी पड़ती है। प्रत्येक क्लास न्यूनतम 55 मिनट की होती है।
  4. शाम के समय 5: 30 से 7: 30 बजे तक अभ्यर्थियों को खेलकूद की गतिविधियों के लिए समय दिया जाता है।
  5. LBSNAA में सांस्कृतिक कार्यक्रमों को समान्यतः रात के खाने से पूर्व समाप्त कर दिया जाता है।

LBSNAA परिवीक्षा के नियम

अब यहाँ हम आपको LBSNAA परिवीक्षा के नियमो के बारे में बताने जा रहें है। अगर आप भी इन नियमो के बारे में जानना चाहते है तो यहाँ हम आपको LBSNAA परिवीक्षा के नियमो के विषय में पूरी जानकारी देने जा रहें है। इन नियमों को आप नीचे दिए गए पॉइंट्स के माध्यम से जान सकते है। ये नियम निम्न प्रकार है –

  1. लबसना में होने वाली प्रत्येक भर्ती का दो साल का प्रोबेशन पीरियड होगा।
  2. हालांकि सरकार के आदेशानुसार प्रोबेशन पीरियड की अवधि को दो साल से बढ़ाकर तीन साल भी किया जा सकता है।
  3. प्रोबेशन पीरियड खत्म होने के बाद प्रोबेशन में रहने वाले अभ्यर्थी को 900 अंको से चिन्हित किया जाएगा।

लबसना गीत (LBSNAA Song)

क्या आप जानते है लबसना गीत (LBSNAA Song) क्या है ? और इस गीत को किन किन भाषाओ को मिलाकर बनाया गया है। यहाँ हम आपको लबसना गीत के बारे में जानकारी देने जा रहें है। आप नीचे दी गई जानकारी में लबसना गीत देख सकते है। LBSNAA गीत निम्न प्रकार है –

हओधरमेते धीर, हओ करमेते बीर,। बंगला ।
हओ उन्नेतोशिर – नाहि भॉय ।
भुलिभेदाभेद ज्ञान, हओ सबे आगुआन
साथे आछे भगबान – हबे जॉय।

रहो धर्म में धीर, रहो कर्म में वीर । हिंदी ।
रखो उन्नमत शिर – डरो ना ।

नानाभाषा, नाना मत, नाना परिधान,। बंगला।
बिबि धेरमाझे देखो मिलन महान ।
देखियाभारते महाजातिर उत्था न
जागो जान मानिबे बिश्शउय
जागोमान मानिबे बिश्शशय ।

उल्लमत्तिल उरूदियाय सेयलिल विरमुडन। तमिल
तलैनिमिर्न्दुत निर्पाय नी।

रहोधर्म में धीर, रहो कर्म में वीर । हिंदी ।
रखो उन्नमत शिर – डरो ना ।

भूलि भेदा भेद ज्ञान, हओ सबे आगुआन, । बंगला ।
साथेआछे भगबान – हबे जॉय।

व्हाआ धर्मात धीर, व्हा करणीत वीर। । मराठी
व्हाआउन्नमत शिर – नाही भय

नानाभाषा, नाना मत, नाना परिधान, । बंगला।
बिबिधेरमाझे देखो मिलन महान ।
देखियाभारते महाजातिर उत्था न
जागो जान मानिबे बिश्शउय
जागोमान मानिबे बिश्श य ।

हओ धरमेते धीर, हओ करमेते बीर
हओ उन्नततोशिर – नाहि भॉय ।
हओ उन्नततोशिर – नाहि भॉय
हओ उन्नततो शिर – नाहि भॉय ।।”

FAQ लबसना (LBSNAA) क्या है ? 2023 सम्बंधित कुछ प्रश्न और उत्तर

Q. LBSNAA की फुल फॉर्म क्या है ?

Ans: LBSNAA की फुल फॉर्म Lal Bahadur Shastri National Administration Academy होती है।

Q. लबसना का मोटो क्या है ?

Ans: लबसना का मोटो शीलं परम भूषणम है/जिसे अंग्रेजी में character is the highest virtue कहते है/इसे हिंदी में चरित्र सबसे बड़ा गुण है कहते है।

Q. LBSNAA कहाँ स्थित है ?

Ans: LBSNAA उत्तराखंड राज्य के मसूरी में स्थित है।

Q. लबसना में क्या होता है ?

Ans: LBSNAA में यूपीएससी की परीक्षा पास करने वाले अभ्यर्थियों को आईएएस और आईपीएस की ट्रेनिंग दी जाती है। सभी प्रशिक्षुको को सभी नियमों का पालन करना पड़ता है।

Q. लाल बहादुर शास्त्री राष्ट्रीय प्रशासन अकादमी (LBSNAA) की स्थापना कब हुई ?

Ans: लाल बहादुर शास्त्री राष्ट्रीय प्रशासन अकादमी (LBSNAA) की स्थापना 1958 को हुई थी।

Q. LBSNAA की आधिकारिक वेबसाइट क्या है ?

Ans: LBSNAA की आधिकारिक वेबसाइट http://www.lbsnaa.gov.in/ है। इस वेबसाइट का लिंक हमने आपको अपने इस लेख में उपलब्ध करा दिया है।

हेल्पलाइन नंबर

जैसे कि हमने आपको अपने इस लेख में लबसना (LBSNAA) क्या है ? और LBSNAA की Full Form क्या है ? और इससे सम्बंधित अनेक जानकारी साझा की है। अगर आपको इन जानकारियों के अलावा कोई अन्य जानकारी चाहिए तो आप नीचे दिए गए कमेंट सेक्शन में जाकर मैसेज करके पूछ सकते है। हमारी टीम द्वारा आपके सभी प्रश्नों के उत्तर अवश्य दिए जाएंगे। आशा करते है आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी से सहायता मिलेगी।

https://play.google.com/store/apps/details?id=com.app.testseries.dreambiginstitution&hl=en_IN&gl=US
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments